25/10/2011

डॉ. प्रेम शंकर : जीवन – वृत्त

नाम-
डॉ. प्रेम शंकर

कार्यकारी पूर्णकालीन अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश हिन्दी संस्थान, हजरतगंज, लखनऊ

पूर्व प्रोफेसर एवं समन्वयक (हिन्दी एवं प्रादेशिक भाषाएँ)

लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी , मसूरी -248179

पिता का नाम- 
श्री लक्षमणदास

जन्मतिथि– 
01.11.1943, अलीगढ़

वर्तमान पता– 
डॉ. प्रेम शंकर, भाईजी नगर, सारसौल, अलीगढ़ -202001
मोब. न. 9410061985
ईमेल pshanker98@gmail.com, pshanker98@yahoo.com

शैक्षिणिक योग्यताएँ- 
( अ ) एम . ए. ( हिन्दी ) प्रथम श्रेणी
(आ ) एम.फिल्. - प्रयोगवाद बनाम व्यक्तिवाद
( इ ) पी-एच.डी. – आधुनिक हिन्दी कविता में व्यक्तिवाद ( 1941 से 1970 )
( ई ) धर्मरत्न - 1955

शैक्षणिक अध्यापन– 
22 वर्ष, 6 माह
( अ ) प्रोफेसर एवं समन्वयक (हिन्दी एवं प्रादेशिक भाषाएँ) (09-05-2003 से 31-10-2003) ला .ब. शा.रा.प्रशासन, अकादमी, मसूरी
( आ ) रीडर, मसूरी ( 04-10-1996 से 08-05-2003 )
( इ ) अतिरिक्त कार्य –एसोशिऐट प्रोफेसर, डा. अम्बेडकर चेयर, अकादमी, मसूरी
( ई ) सहायक प्रोफेसर – ( 21-3-1990 से 04-10-1996 ) अकादमी, मसूरी
( उ ) रिसर्च एसोशियेट –(26-8-1986 से 20-3-1990 ) हिन्दी विभाग, ए.एम.यू, अलीगढ़
( ऊ ) प्रवक्ता, राजकीय पी. जी. कालेज, बागेश्वर ( 31-10-1983 से 30-4-1984 )
( ए ) हिन्दी अधिकारी, ऐसिक, बम्बई (14-4-1982 से 01-09-1982 )
( ऐ ) प्रवक्ता, एन.डी.ए., खड़गवासला, पुणे ( 21-9-1979 से 01-3-1980 )
( ओ ) जूनियर रिसर्च फेलो, यू.जी.सी., ए.एम.यू., अलीगढ़ ( 01-8-1976 से 19-9-1979
( औ ) प्रवक्ता, डी.ए.वी. पी.जी. कालेज, बुलन्दशहर ( 05-08-1974 से 14-12-1974 )
व्यावसायिक अर्हताएँ - थेम्सवैली, स्लाव, यू.के. में 12 सप्ताह ट्रेनिंग ऑफ
ट्रेनरस का प्रशिक्षण प्राप्त किया.

शोध-अनुभव- 
08 वर्ष का रिसर्च फेलो एवँ ऐसोशिएट का अलीगढ़

प्रकाशन- 
हिन्दी और उसकी उप भाषाएँ
नयी कविता : नया मूल्याकंन
नयी गन्ध ( नवगीत संकलन )
प्रशिक्षण आवश्यकताओं का विश्लेषण
दलितों का चीखता अभाव ( कविता संकलन )
अपनी शताब्दी से उपेक्षित ( कविता संकलन )
कविता रोटी की भूख तक ( कविता संकलन )
गरीब ( गीति-नाट्य )
ब्रजभाषा और संस्कृति
राजस्थानी भाषा और संस्कृति
भीली भाषा और संस्कृति
छत्तीसगढ़ी की क्रियाओं का व्यावहारिक रूप
हिन्दी की क्रियाओं का व्यावहारिक रूप
हिन्दी लिंग-विधान
हिन्दी देवनागरी लिपि
वर्त्तमान और विचार ( निबन्ध )
व्यावहारिक शब्दमालाएँ

अन्य प्रकाशन– 
 150 कविताएँ, 175 नवगीत, 10 कविताएँ दर्द के दस्तावेज़, 10 कविताएँ कवि अनुपस्थित है में सवक्तव्य, 8 कविताएँ अँगुत्तर, 10 कविताएँ युध्दरत आदमी, 40 कविताएँ अंग्रेजी में दलित एटरोसिटी में तथा अनेक पुस्तकों में प्रकाशित.

शोध–पत्र तथा आलेख प्रकाशन– 
45 आलेख एवँ शोध – पत्र विविध पत्रिकाओं में प्रकाशित.

सम्पादन- 
समिधा – 1
समिधा – 2
अनन्या – 1 ( नवगीत पत्रिका )
अनन्या – 2 ( नवगीत पत्रिका )
पिपरा जनसंहार
अम्बेडकरीय कविता – 1, 2, 3, 4, 5, 6
दलित उत्पीड़न - अंक – 1, 2, 3, 4, 5, 6, 7 हिन्दी एवं अंग्रेजी
साहित्यिक एवँ साँस्कृतिक कार्यकलाप – आधुनिक हिन्दी कविता, नवगीत, गीति – नाट्य,
कहानी, उपन्यास, नाटक, एकांकी, आलोचना, समीक्षा , भाषाविज्ञान, प्रशिक्षण आदि पर आलेख
लिखने और कवि – गोष्ठियों, कवि – सम्मेलनों,
कार्यशालाओं नें भाग लेने का 54 वर्ष का
सक्रिय योगदान, देश – विदेश में कविताओं और
कहानियों का विविध भाषाओं में अनुवाद एवं अनेक
विश्वविद्यालयों में पाठ्यक्रमों में स्वीकृत.